Kayısının Hintçe Faydaları


Hintçe Kayısı – एप्रीकॉट एक पहाड़ी गठु लीदार फल है। जि सेहि दं ी में(Hintçe Kayısı anlamı) खबु ानी, जरदाल,ूचि लूऔर सस्ं कात मेंउरुमाण के नाम सेजाना जाता है। खबु ानी का वनस्पति के नाम Prunus armeniaca (प्रनू स ्आरमीनि आका) है। Gülgiller (रोजेसी) ile ilgili yorumlar

इसेताजा या सखु ाकर ड्राई फ्रूट्स के रूप मेंसेवन कि या जाता है। इसके अलावा खबु ानी फल का इस्तमे ाल जमै , जेली, सि रप या जसू बनानेमेंभी कि या जाता है। तथा इसमेंफूलनेवालेफूल सफेद सेहल्के गलु ाबी रंग के होते हैं। जो पांच पखं ड़िुड़ियों वालेहोतेहै। जो आमतौर पर अकेलेया जोड़ों मेंखि लतेहै।

‘एप्रीकॉट फल’ को भारत और पाकि स्तान मेंकाफी महत्वपर्णू र्णफल समझा जाता है। इसमेंकई वि टामि सं और फाइबर होतेहैं। जि सके सेवन कई अद्भतु फायदेहोतेहैं। तो आइए जानतेहैं। एप्रीकॉट फल के सेवन सेहोने वालेअद्भतु फायदे(Hintçe Kayısının Yararları)

kayısı Hintçe nedir | खबु क्या है?

खबु ानी एक गर्म तासीर वाला फल है। जो स्वाद मेंमीठा और आकार मेंआडूया पल्म जसै ा होता है। यह आमतौर पर पीलेया नारंगी रंग मेंहोता है। इसका छि लका मलु ायम तथा हल्का खरुदरा होता है। जि सके अदं र कालेरंग का हल्का खरुदरी वाला बीज पाया जाता है। जि सेखानेके लि ए भी उपयोग कि या जाता है। लेकि न सीमि त मात्रा मेंऔर केवल बड़ेव्यक्ति द्वारा ही खाया जाता है। इसके बीज को छोटेबच्चेको देना सख्त मना कि या जाता है। क्योंकि इसके बीज मेंजहरीला रसायन ‘साइनाइड’ होता है। जो जानलेवा भी हो सकता है।

ा ानी के पेड़ की बात करेंतो खबु ानी का पेड़ 20 से25 फीट ऊं चा तथा चौड़ा होता है। और इसके अर्ध बोनेपेड़ की ऊं चाई करीब 12 से18 फीट तक होता है। तथा बोनेकि स्मो वालेखबु ानी के पेड़ की बात करें। तो यह बहत ही छोटेलगभग 5 से8 फीट लबं ी और चौड़ी होती है।

खबु ानी का पेड़ के पत्ते(Hintçe’de Kayısı yaprakları) गोलाकार आधार, नकु ीलेसि रेऔर दाँतदे ार कि नारेके साथ अडं कार ै।ोती तथा इसमेंखि लनेवालेफूल सफेद सेहल्के गलु ाबी रंग के होतेहैं। जो पांच पखं ड़िुड़ियों वालेहोतेहैजो अकेलेया जोड़ों मेंखि लतेहै।

इसमेंफलनेवाला फल पीलेरंग का होता हैं(Hintçe kayısı meyvesi) इसके अलावा इसका उपयोग जेम, जलैी, सि रप या जसू आदि बनानेमेंभी का जाता है।

खबु नी के कई कि स्मेंहैं। नmizi जो शीघ्र तयै ार होनेवाली कि स्मेंहैं। इसके अलावा मध्य अवधि मेंतयै ार होनेवाली कि स्में- कक्करपारा, चारमग्ज, हरकोट, ऐमा, सफेदा, केशा, सफेदा, केशा, मिआद्आदकर काशा, मि्आदरपकर ै।क्करपारा, चारमग्ज साथ ही देर सेतयै ार होनेवाली कि स्में- एलेक्स, रायल, सेन्ट एम्ब्रि योज और वल्ुकान आदि शामि ल हैं। जो भारत में काफी प्रचलि त कि स्मों मेंसेएक हैं।

इसके बारे मेंभी विस्तार से पढ़ें: Hintçe Avokado’nun Faydaları | एवोकाडो क्या है? फायदेऔर नकु सान खबु ानी का उत्पादन

ा ानी की खेती परूेवि श्व भर मेंकी जाती है। जि नमेंअमेरि का, तर्कीु र्की, भारत, और पाकि स्तान आदि हैं। Daha fazla bilgi जहां 2005 में390,000 ट खबु ानी का उत्पादन हआ था। इसके बाद ईरान मेंजहां 2005 में285,000 टन खबु ानी का उत्पादन कि या गया था। खबु ानी एक ठंडेप्रदेश का पौधा है। गर्मी मेंमर जाता है। या फि र फल ही नहींदेता है। मारत मेंइसका उत्पादन उत्तर के पहाड़ी इलाकों मेंकी जाती है। Daha fazla bilgi

Kayısının Hintçe Faydaları | खबु ानी के फायदे

kayısı Hintçe

एप्रीकॉट में विटामिन ए, विटामिन B-6, विटामिन सी, विटामिन ई, विटामिन के, सोडियम, पोटेशि यम, फॉस्फोरस कैल्शि यम, मग्ैनीशि यम, आयरन, शगु र, फाइबर, कॉपर, कार्बो हाइड्रटे , प्रोटीन, ऊर्जा , पानी, जिकं , मग्ैनीज, थियामीन, नि यासि न, राइबोफ्लेवि न, फोलेट, बीटा कैरोटीन और फैट आदि कई पोषक तत्व पामेरुातातात मातातात मातातात मर्।ाएात माताताए माताताए मलाएाताए मातर्।ाएा। जिसके सेवन सेकई अद्भतु फायदेहोतेहैंतो आइए जानतेहैंखबु ानी सालेअद्भतु फायदेके बारेमें।

1. क्डियों को मजबतू बनानेके लिए

शरीर मेंहड्डि यांकमजोर होनेसेऑस्टि योपोरोसि स जसै ेकई रोग होनेका खतरा बना रहता है। जि सके लि ए हड्डि यों को स्वस्थ और मजबतू बनाना काफी जरूरी होता है। ऐसेमेंअगर आपती उम्र के साथ खान-पान मान-पान मान-पान हान-पान ह्डि यों मेंकमजोरी महशशुकर रहेहैं। तो आप अपनेआहार मेंखबु ानी को

शामि ल कर सकतेहैं। इसमेंपोटैशि यम, मग्निैग्नि शि यम, कैलशि यम, फास्फोरस आदि कई जरूरतमदं पोषक तत्व पाए जातेहैं। जो काफी भरपरू मात्रा मेंहोतेहैं। यहमारेहड्डि कों को स्वस्थ और मजबतू बनानेमेंकाफी मदद करतेहैं।

2. पाचन क्रिया को बेहतर बनानेके लिए

पाचन क्रि या सही सेकाम ना करनेके कारण पेट मेंगैस, कब्ज, अपच आदि की समस्या बनी रहती है। जो हमारेदि नचर्या को काफी खराब बना देता है। ऐसेमेंखराब पाचन क्रि या को बेहतर बनानेके लि आप आप ा ाानी सेवन काचन इसमेंफाइबर की परचरू मात्रा पाई जाती हैजो पाचन क्रि या को बेहतर बनानेमेंकाफी मदद करती है।

3. एनीमि या रोग दरू करनेके लि ए

एनीमि या रोग शरीर मेंखनू की कमी को कहतेहैं। इसमेंलाल रक्त कोशि काएंकम हो जाती है। तथा इसमें हमारेशरीर के अगं ों तक ऑक्सीजन पहंच नहींपाती, खबु ानी मेंफोलेट और आयरन की भरपरू मात्रा पाई जाती है। जो खनू की कमी को परूा कर एनीमि या रोग को दरू करनेमेंकाफी मदद करती है।

4. हृदय को स्वस्थ रखनेके लि ए

यदि आप अपनेहृदय को स्वस्थ और मजबतू रखनेके साथ स्ट्रोक, एथेरोस्लेरोसि सि सर दि के दौरेआदि रोगों सेदरूरू तो आप इस खबु ानी फल को अपनेआहार मेंशामि ल कर सकतेहैं। इसमेंकाफी अच्छी मात्रा मेंवि टामि न सी, पोटेशि यम, और फाइबर आदि पाया जाता है। जो दि ल को मक्ुत कणों सेबचाता है। रक्त वाहि काओंऔर धमनि यों के तनाव को आराम देता है। रर रक्तचाप को कम करनेमेंमदद करता है। इसमेंमौजदू फाइबर कोलेस्ट्रोल को तोड़नेका काम करता है। जि सेहमारा हृदय तनाव मक्ुत रहता है। जो हमारेहृदय के स्वस्थ के लि ए काफी लाभदायक होता है।

5. सजू न दरू करनेके लि ए

यदि आपके शरीर मेंसजू न की समस्या होती रहती है। तो आप खबु ानी का सेवन कर सकतेहैं। इसमेंएंटी इन्फ्लेमेटरी गणु पाया जाता है। जो सजू न को दरू करनेमेंकाफी सहायक होता है।

6. वजन करनेके लि ए

मोटापेसेपरेशान व्यक्ति एप्रीकॉट का सेवन सकतेहैं। Daha fazla bilgi जो चयापचय दर को सधु ार करके पाचन तथा वि षलै ेतत्वों के नि ष्कासन मेंशरीर प्रति क्रि याओंको बेहतर ै।न ile औ औ वज ा ा ा ा ा ा ा ा ा ा ा ा ा ा ा ा ा ा ा ा ा ा ा.

7. गर्भवर्भ ती महि लाओंके लि ए

हर गर्भवर्भ ती महि ला गर्भा वस्था के दौरान बच्चेऔर अपनेशरीर कोषण की पर्तिूर्ति को लेकर्ति को लेकर काफी सरान जि सके लि ए वह कई तरह का बेहतर आहार का सेवन करती है। ऐसेमेंआप ा ानी को अपनेआहार में शामि ल कर सकतेहैं। वसमें विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन ई, फास्फोरस, कैलशि यम, सिलिकॉन,

आयरन और पोटेशि यम आदि होता हैंजो शरीर मेंएनीमि या होनेसेबचाता है। और गर्भवर्भ ती तथा स्तनपान करानेवाली महि लाओंको बेहतर पोषण प्रदान करता है।

8. ों ों के समस्याओंके लिए

बढ़ती उम्र के साथ हमारी आखं ेंकमजोर होनेलगती है। सि सेहमेंआसपास की वस्तएु ंभी काफी धधंु ली सी नजर आनेलगती है। जो ज्यादातर हमारेशरीर मेंपोषक तत्वों की कमी के कारण होती है। ऐसेमेंआप इस खबु ानी फल का सेवन कसकतेहैं। इसमेंमौजदू एंटीऑक्सीडेंटर बीटा कैरोटीन आखं ोंऑप्टि को मजबतू बनानेएवंआखं ीटीटा कैरोटीन ोंोीटा को बाली नरात नरात नरााब नर्वीफकी बली बाली नाकी बरा नाली बें

9. त्वचा के लि ए

त्वचा की समस्या जसै ेएग्जि मा, खजु ली आदि की समस्या होनेपर खबु ानी कस्तमे ाल कर सकतेहैं। यह त्वचा द्वारा जल्द अवशोषि त हो जाता है। और इसेत्वचा तलिैलियेभी नहींलगता है। इसमेंपाया जाने वाला एंटीऑक्सीडेंट और वि टामि न त त्वचा करोगों साथ त्वचा को मेरीीचरीा नाता नाता

10. Bir kaç kişi

लक्सर लोगोंके लि निोोंडे दिनोंअधि मि नाअधिअध्अध,ड,ड,ग,ग,ग,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,, जि से राहत पानेके लि ए आप ा ानी के बीज का तले एका तले एकान मेंडाल सकतेहैं। इसमेंपाया जानेवाला एंटीऑक्सीडेंट प्रचरु मात्रा मेंहोता है। जो कान के दर्द सेराहत दि लानेमेंकाफी मदद करता है।

11. बार-बार प्यास लगनेकी समस्या दरू करनेके लि ए

बार-बार प्यास लगना अक्सर कि सी दवा के साइड इफेक्ट्स का कारण या लारा बीमारी के लक्षण के कारण उत्पन्न इसके अलावा मेनोपॉज के कारण भी बार-बार प्यास लग सकता हैं। ऐसेमेंइस समस्या सेछुटकारा पानेके लि ए आप ा ानी सा सेवन सकतेहैं। जो काफी लाभदायक साबि त होता है।

12. अस्थमा रोग दरू करनेके लि ए

अस्थमा जि सेदमा भी कहतेहैं। इसमेंसांस लेना मश्किुश्कि ल होता है। तथा कुछ शारीरि क एक्टि वि टीज को भी मश्किुश्कि ल बना देता है। रसेमेंइस अस्थमा रोग को दरू करनेके लि आप आप ा ानी सानी सेवन करतेहैं। लसमें लाइकोपीन कैरोटीनॉयड कंपाउंड होता है। जो अस्थमा को नि यत्रिं त्रित करनेमेंकाफी मदद करता है।

13. आग सेजलेघाव दरू करनेके लि ए

यदि आप खाना पकानेवक्त या कि सी कारणवश है। हाथ परै जला लेतेहैं। तो आप खबु ानी के बीज का तले लगा सकतेहैं। जो जल्द राहत दि लानेमेंकाफी मदद करता है।

14. गठि या के दर्द सेराहत पानेके लि ए

गठि या एक ऐसी समस्या है। रि सेआजकल र्गोंु र्गों के अलावा के कई ओाओंमेंभी देखा जा सकता है। जि समें काफी दर्द की समस्या बनी रहती है। İşaretler जो काफी हद तक राहत पानेमेंमदद कर सकता है।

15. मनानेमेंसहायक म ल ल ल ल

अभी आप काफी कमजोर है। मर मसल्स नि र्मा ण करनेमेंआपको कठि नाई हो रही है। तो आप अपनेआहार मेंसखू ेखबु ानी को शामि ल कर सकतेहैं। इसमेंप्रोटीन काफी प्रचरु मात्रा मेंपाया जाता है। जो मसल्स नि र्मा ण करनेमेंकाफी मदद करता है।

16. शारीरि कमजोरी दरू करनेके लि ए

यदि आप कई दि नों तक बीमार रहेहैं। जि सके कारण आपको कमजोरी आ गई है। तो ऐसेमेंआप ाानी के एक चम्मच तले (Hintçe Kayısı Yağı) को म मेंडालकर सेवन कर सकतेहैं। इसका उपयोग हि मालयी क्षेत्रों मेंकाफी अधि कि या जाता है। इसमेंभरपरू मात्रा मेंपोषक तत्व होतेहैं। जो शारीरि कमजोरी को दरू कर शरीर को ताकत देनेका काम करतेहैं।

खबु ानी फल खानेका समय

खबु ानी एक फल है। जि सेआप सबु ह या दोपहर कभी भी खा सकतेहैं। लेकि नआयर्वेु र्वेद के अनसु ार कि सी भी फल को सबु ह हक्त खाना सबसेअच्छा माना जाता है। रोजाना सामान्य तौर पर इसेआप चार सेछह खबु ानी खा सकतेहैं।

इस पढ़ें: Dry Fruits Benefits in Hindi - ड्राई फ्रूट्स के फायदे 

Kayısının Hintçe Kullanımları | खबु ानी का उपयोग

  1. ा ानी का उपयोग आप मि ल्कशक्े स के साथ मि लाकर सेवन कर सकतेहैं।
  2. ा ानी को सबु ह नाश्तेमेंदही के साथ सेवन करतेहैं। इसके अलावा इसेदलि या के साथ मि लाकर नाश्तेमेंभी सेवन सकतेहैं।
  3. खबु ानी को कच्चेआम वीनी मि लाकर एक तरह की बहत ही स्वादि ष्ट चटनी भी बनाई जाती है। 4. इसेअन्य फलों की तरह सीधेतौर पर धोकर भी सेवन कर सकतेहैं।
  4. इसेसखू ेखबू ानी (ड्राई फ्रूट) के रूप मेंभी खा सकतेहैं।

Hintçe kayısının yan etkileri | खबु नी के नकु सान

वसै ेतो खबु ानी का सेवन सही मात्रा मेंकरनेसेकि सी भी प्रकार का नकु सान नहीं होता है। लेकि न इसेअगर आपि करतेहैंतो नि म्नलि ति त नकु सान देखेजा सकतेहैं।

  1. सखू ेखबु ानी अधि क मात्रा मेंसेवन करनेसेहमारी आतं ो को नकु सान कर सकता है।
  2. कि सी व्यक्ति को इसके सेवन सेएलर्जी होती हैतो जि तना हो सके सेवन करनेसेबचें।
  3. इसका बीज खानेयोग होता है। मरंतुइसेअधि क्यात्रा मेंनहीं खाना चाहि ए और ना ही इसेबच्चों केना चाहि ए क्योंकि खबु ानी के बालीजरी कालीजरी कान मातलीजरा इालीजरा हाताइलीजरा इातलीजरा इाताइाइ जाइ माइ माइ माइ माइ माइ माइ माइ माइ माइ माइ जाइ जाइ ‘ाइ जाइ जाइ ‘ाल माल ‘ालीजा इालीजांां इालीजांों सेबच्चों सेबच्चों सेबच्चों जि सके अधि क सेवन सेजानलेवा साबि त भी हो सकता है।

Sorumluluk Reddi: Bu yayınlarda yer alan ifadeler, görüşler ve veriler, Credihealth ve editör(ler)e değil, yalnızca bireysel yazarlara ve katkıda bulunanlara aittir.

+91 8010-994-994 numaralı telefonu arayın ve aşağıdaki bilgiler için Credihealth Medical Experts ile görüşün. BEDAVA. Doğru uzman doktor ve kliniği seçme konusunda yardım alın, çeşitli merkezlerden tedavi maliyetlerini ve zamanında tıbbi güncellemeleri karşılaştırın

Kayısının Hintçe Faydaları


Kaynak : https://www.credihealth.com/blog/benefits-of-apricot-in-hindi/”>Source link

Yorum yapın

SMM Panel PDF Kitap indir